demonetisaion destroy indian economy : Jayram नोटबंदी से विनाश

नोटबंदी से अर्थव्यवस्था का विनाश

लोकतंत्र की शहनाई पर एकतंत्र की तोप

पूर्व मंत्री जयराम ने गिनाई केन्द्र की विफलताएं

अहमदाबाद। पूर्व केन्द्रीय मंत्री जयराम रमेश ने कहा है कि देश में रोजगार का अकाल है। नोटबंदी करके सरकार ने अर्थव्यवस्था का विनाश कर दिया। किसान, श्रमिक व लघुउधमियों की हालत खराब है। लेकिन घरेलु निवेश के बजाय विदेशी निवेश के पीछे दौड़ लगा रही है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर कांग्रेस की ओर से आयोजित पत्रकारवार्ता में जयराम ने कहा कि केन्द्र सरकार अधिकतम प्रचार न्यूनतम विचार के फार्मूले पर चल रही है। प्रधानमंत्री मोदी चुनाव से पहले हर साल दो करोड़ को रोजगार देने का वादा कर रहे थे। लेकिन केन्द्र सरकार के श्रम विभाग के अनुसार  2015 व 16 में महज साढे तीन लाख लोगों को ही रोजगार दे पाये। जयराम ने कहा कि मोदी कांग्रेस की योजनाओं को ही नाम बदल कर चला रहे है। यूपीए सरकार की मनरेगा योजना, फसल विमा योजना और जीएसटी आदि का विरोध करनेवाली भाजपा अभी इन्ही योजनाओं को बढ़ा चढ़ा कर लागू कर रही है। देश की विकास दर व निवेश दर आठ साल में सबसे न्यूनतम स्तर पर है। नोटबंदी से अर्थव्यवस्था का विनाश हुआ है। सरकार ये नहीं बता पा रही है कि साढ़े पंद्रह लाख करोड़ की करन्सी में से कितने नोट वापस आये।

जयराम ने कहा कि कालाधन प्रोपर्टी, गोल्ट वह विदेशी बैंको में जमा है। केन्द्र सरकार की तीन साल की नाकामियों को उजागर करने के लिए कांग्रेस आनेवाले दिनों में एक अभियान चलायेगी। जयराम ने कहा कि विदेशी निवेश कभी भी देश के विकास का इंजन नहीं हो सकता है। इसमें सरकार को उधोग, मेन्युफेक्चरिंग व लघुउधोगो की सेहत सुधारने के लिए घरेलु निवेश पर ध्यान देना चाहिए। जयराम ने कहा कि मोदी सरकार यूपीए सरकार की तुलना में किसान व श्रमिकों का कोई भला नहीं कर पायी। यूपीए सरकार ने 25 करोड़ खाते खोले थे । मोदी सरकार अब उसका नाम बदलकर 29 करोड़ खाते खोलने का दावा कर रही है। उन्होंने विदेशों से आयात 50 लाख टन दाल के मुद्दे  पर कहा कि देश में दाल की बम्बर उपज हुई । इसके बावजूद 50 रुपये किलो के दाम से दाल आयात कर बाजार में 200 रुपये किलों के भाव में बेचकर सरकार ने बड़ा घोटाला किया है। कृषि सुधार संबंधी योजनाएं ठंडे बस्ते में चली गयी। यूपीए सरकार के समय कृषि विकास दर 3.5 प्रतिशत थी, जो अब 1.7 प्रतिशत रह गयी है। जयराम रमेश का कहना है कि मोदी सरकार के दावे झुटे व हकिकत से दूर है। लोगतंत्र की शहनाई पर एकतंत्र का तोप चलाई जा रही है। 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: